Nitrogen kudrati tareeke se kaise kaam karta hai hindi informative 4 farmers

Nitrogen kudrati tareeke se kaise kaam karta hai hindi

143

Nitrogen kudrati tareeke se kaise kaam karta hai hindi

Modern Kheti Whatsapp 9814388969

नाइट्रोजन यह एक फसल को लगने वाला महत्वपूर्ण पोशणद्रव्य है | नाइट्रोजन प्राकृति में विविध रूपों में पाया जाता है | जैसे की वायु मंडल में (N2) वायु रूप में सबसे ज्यादा मात्रा  में याने की लगभग ७८ % मौजूद है | लेकिन इस वायु रूप नाइट्रोजन का इस्तेमाल वनस्पति नहीं कर पाते | वनस्पति में  , RNA DNA,अमीनो एसिड और प्रोटीन निर्माण में नाइट्रोजन अहम भूमिका निभाता है | इसलिये नाइट्रोजन की कमी से फसल की उपज में भारी घट हो सकती है |

अगर आप नाइट्रोजन चक्र समज़ जायेंगे तो ,रासायनिक खादों का उपयोग कम करके  प्राकृतिक तरीके से मिट्टी में नाइट्रोजन का प्रमाण बढ़ा सकते है |इस वायु मंडल  में उपलब्ध नाइट्रोजन वायु को सजीव के लिए उपलब्ध कराना और फिर से उसे नाइट्रोजन वायु के रूप में परिवर्तित कराना ,इसे नाइट्रोजन चक्र कहेंगे |

nitrogen with natural way
nitrogen with natural way

यह चक्र कई जैविक और भौतिक प्रक्रियां पर निर्भर है |हम जानते है की कुछ प्रमाण में वायुमंडल में उपलब्ध नाइट्रोजन का बिजली से प्रक्रिया होकर ,बारिश के पानी के साथ पौधों को उपलब्ध  होता है |
लेकिन ज्यादा से ज्यादातर नाइट्रोजन कुछ खास  जीवाणुओं से (राइजोबियम ) पौधों को उपलब्ध होता  है ,इसे नाइट्रोजन फिक्सेशन कहते है | यह जीवाणु नाइट्रोजन को अमोनियम आयन के रूप में पौधों को उपलब्ध कराते है | इसे वनस्पति अमीनो एसिड के रूप में उपयोग करते है | इस अवस्था में नाइट्रोजन जैविक रूप में वनस्पति और प्राणी जगत में पाया जाता है |

वनस्पति या प्राणी अपनी वेस्ट प्रोडक्ट में या जब वें अपनी जीवन यात्रा खतम करते है तो तब  जैविक रूप में मौजूद नाइट्रोजन का कुछ बैक्टरिया और फंगस के माध्यम से पृथक्करण होकर अमोनिया में परिवर्तित होता है ,इसे अमोनिफिकेशन कहते है |
अमोनिफिकेशन से मिलने वाला अमोनिया और  फिर से कुछ बैक्टरिया से (nitrobacter)परिवर्तित होकर नाइट्राइट  और बादमें नाइट्रेट तैयार होता है ,इसे नाइत्रिफिकेषण कहते है |
इस पश्चात् कुछ जीवाणु से (psuedomonas) डीनाइत्रीफिकेशन होकर , नाइट्रोजन (N2) वायु तैयार होकर वातावरण में मिल जाता है और ईस तरह से नाइट्रोजन चक्र पूरा होता  है |
इस से हम यह निष्क
र्ष निकाल सकते है की ,नाइट्रोजन स्थिरीकरण करने वाले जीवाणु से बिज उपचार और अधिकतम जैविक खादों का इस्तेमाल ,नाइट्रोजन चक्र की तंदुरस्ती बरक़रार रखता है

Modern Kheti Whatsapp 9814388969

Side effects of chemical farming and its solutions ||रासायनिक खेती के दुष्प्रभाव और समाधान के उपाय new 2022

 

 

Comments are closed.